future earth 1000 years

Future of earth after 1000 years in Hindi

How would be the future Earth 1000 years from now

बीते हुए कुछ हजार सालों में मानवता ने उल्लेखनीय तरक्की की है कभीं पत्थरों के औजारों और बर्तनों का उपयोग करने वाले लोग आज चाँद पर पहुँच गए हैं और मंगल ग्रह पर बस्तियां बसने की सोच रहे हैं ! इन बीते हुए सालों में मानवता को कई बार बुरे वक्त से भी गुजरना पड़ा है जैसे प्राकृतिक आपदाएं और वर्ल्ड वार्स आदि ! आज हम 21वीं सदी में हैं और इतनी आपदाओं को झेलने के बाद भी इस ग्रह पर अपनी प्रजाती का वजूद रखे हुए हैं !लेकिन अब सवाल ये है कि भविष्य में मानवता कहाँ तक पहुंच पाएगी? और अभी से 1000 साल बाद इस दुनिया का नजारा कैसा होगा? वैसे भविष्य में क्या होने वाला है इसकी भविस्यवाणी कोई नहीं कर सकता यहां तक कि अभी से 100 साल बाद क्या होने वाला है ये भी कोई नहीं बता सकता ! लेकिन इसके वाबजूद भी वैज्ञानिक और भविष्यवादी अभी से 1000 साल बाद यानी 31वीं सदी की कल्पना करते हैं ! आईये जानते हैं कि उनके अनुसार 1000 साल बाद की दुनिया का कैसा नजारा होगा? future Earth 1000 years from now

अगर आने वाले 1000 सालों में हम कोई भी world war ना लड़ें, ना हम पर कोई एलियन अटैक हो और ना ही ज़ोंबी अटैक जैसी घटना के शिकार हों और 1000 साल बाद भी हम Artificial Intelligence को अपने कण्ट्रोल में रख पाएं और 1000 सालों तक सब कुछ तबाह कर देने वाले किसी भी एस्ट्रोइड से ना टकराएं तो अभी की तकनिकी ग्रोथ को देखते हुए आने वाले 1000 सालों में हम Type-1 Civilization बन चुके होंगे ! Type-1 सिविलाइज़ेशन बनने के बाद प्राकृतिक आपदाएं जैसे घटनाएं बीते दिनों की बात रह जाएँगी ! क्योंकि Type-1 Civilization बनने के बाद हम प्राकृतिक आपदाओं को चुनौती दे पाएंगे !


future earth18वीं सदी में लोगों की औसत उम्र 37 साल हुआ करती थी लेकिन आज के दौर में हमारी औसत उम्र लगभग 70 साल है ! लेकिन अभी से 1000 साल बाद मेडिकल क्षेत्र में इतनी तरक्की हो जायेगी कि नेनोटेक्नोलॉजी और बायोटेक्नोलॉजी की मदद से लोग लम्बे समय तक जिन्दा रह पाएंगे क्योंकि उस समय हामरे शरीर में हजारों नैनोबोट्स काम कर रहे होंगे जोकि Blood को Purify कर बॉडी को कैंसर जैसी जानलेवा बीमारियों से बचाएंगे और उम्र को बढ़ने से रोकेंगे !



1000 साल बाद हम तकनीकी क्षेत्र में तो तरक्की करेंगे ही लेकिन पृथ्वी के भविष्य को भी अंधकार में पहुंचा देंगे क्योंकि 1000 साल बाद हम धरती को ओवर पॉप्युलेट कर देंगे और उस समय तक हम पृथ्वी के सम्पूर्ण प्राकृतिक संसाधनों को ख़त्म कर चुके होंगे जिसकी वजह से हमें पृथ्वी को छोड़ना पड़ेगा या किसी दूसरे सौरमंडल के किसी एलियन ग्रह पर रहना पड़ेगा ! लेकिन हमारी पहली चॉइस मंगल ग्रह ही होगा ! उस समय की ट्रांसपोर्टेशन तकनीक इतनी विकसित होगी कि एक ग्रह से दूर ग्रह तक का सफर कुछ ही घंटों में पूरा किया जा सकेगा !

भविष्य की दुनिया मशीनों की दुनिया है ! उस दौर में हम मशीनों के साथ रह रहे होंगे और मशीने हमारा सारा काम कर रही होंगी ! 1000 साल बाद हमारी सबसे बड़ी चुनौती होगा खाना क्योंकि उस समय दूसरे ग्रहों पर आर्टिफीसियल वातावरण बनाकर रहना पड़ेगा जिसकी वजह से खाना भी आर्टिफीसियल तरीके से ही तैयार करना पड़ेगा ! आज हम जो खाना खाते हैं ये 1000 साल बाद के खाने से कहीं ज्यादा बेहतर है !


1000 साल बाद हम मानव नहीं बल्कि मशीन मानव कहलायेंगे क्योंकि उस समय हम अपने शरीर की शक्ती को बढ़ाने के लिए मशीनों को अपने शरीर में merge कर लेंगे ! उस दौर में तकनीक इस काबिल होगी कि हम अपने दिमाग के डाटा को किसी हार्ड डिस्क में डाउनलोड कर पाएंगे और लम्बे समय तक सुरक्षित रख पाएंगे !

दोस्तों मै आपसे पूछता हूँ कि आप 1000 साल बाद ( future earth 1000 years from now) की दुनिया की क्या कल्पना करते हो? क्या भविष्य का दौर ज्यादा अच्छा होगा या अभी जो दौर चल रहा है वो ज्यादा अच्छा है?

What if you stop sleeping

Checkout our YouTube channel Tech & Myths

Share with your friends
  • 8
  •  
  •  
  •  
  •  
    8
    Shares

2 Comments

  • I have noticed you don’t monetize your page, don’t
    waste your traffic, you can earn additional bucks every month because you’ve got high quality content.

    If you want to know how to make extra $$$, search for: Boorfe’s tips best adsense alternative

  • Please let me know if you’re looking for a article author for your blog. You have some really good articles and I believe I would be a good asset. If you ever want to take some of the load off, I’d absolutely love to write some material for your blog in exchange for a link back to mine. Please shoot me an email if interested. Thank you!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *