छोटे जानवर दुनिया को स्लो मोशन में देखते हैं Small animals see slow motion world in Hindi

Small animals see slow motion world

धरती पर करोड़ों प्रजातियाँ पाई जाती हैं लेकिन क्या सभी प्रजातियाँ इस दुनिया को हम इंसानो की तरह ही देखती हैं? एक study के मुताबिक़ छोटे जानवर दुनिया को स्लो मोशन में देखते हैं ( small animals see slow motion world ) ! मतलब छोटे जानवरों के लिए समय हमारे मुकाबले धीमी रफ़्तार से चलता है !
हाल ही में हुई एक Research के मुताबिक जानवरों के शरीर का द्रव्यमान और मेटाबोलिक रेट निर्धारित करती है कि वो समय को कैसे अनुभव कर रहे हैं ! समय को धीमी गति से अनुभव करना इस बात पर निर्भर करता है कि कितनी तेजी से जानवर का नर्वस सिस्टम सवेंदी जानकारी को प्रोसेस करता है !

वैज्ञानिकों ने एक एक्सपेरिमेंट किया जिसमे कुछ लोगों को fluctuate करती हुई एक लाइट दिखाई ! वो लाइट लोगों को fluctuate करती हुई नजर नहीं आ रही थी बल्कि वो एक स्थिर रोशनी दिखाई दे रही थी ! इसके बाद इसी रोशनी को अलग अलग जानवरों को दिखाया गया और उनके मतिष्क कि गतिविधियों को मापा गया ! जो जानवर High Frequency पर भी लाइट को fluctuate करते हुए देख सकता है वो समय को एक स्पष्ट Resolution में देखता है और ऐसे जानवरों को हमारे द्वारा कि गई गतिविधि और घटनाएं स्लो मोशन में दिखाई देती है ( small animals see slow motion world ) ! ये लगभग वैसा ही होता है जैसे किसी मूवी में बंदूक की गोली स्लो मोशन में निकलती है ! छोटे जानवरों का समय को स्पष्ट Resolution में देखने के कारण ही वो इंसानो से तेज होते हैं !

आपने कभी मक्खी को पकड़ने कि कोशिश तो की ही होगी ! मक्खियों कि रफ़्तार हमसे बहुत तेज होती है क्यों कि मक्खियां इंसानों की तुलना में 4 गुना तेजी से इस दुनिया को देखती है ! हम इंसान इस दुनिया को 60 फ्रेम प्रति सेकेंड देखते हैं लेकिन मक्खियां 250 फ्रेम प्रति सेकेंड देखती हैं ! यही कारण है कि हम आसानी से मक्खियों को नहीं पकड़ पाते ! ऐसा मन जाता है कि कुत्ते का एक साल हम इंसानों के सात सालों के बराबर होता है ! कोई भी जानवर जितना छोटा होगा उसके लिए समय की रफ़्तार कम होती जाती है !

आप भी समय को स्लो मोशन में महसूस कर सकते हो ! मान लो कि आप कोई गाना सुन रहे हो अब अगर आप 5 मिनट Running करने के बाद उसी गाने को सुनोगे तो वो आपको थोड़ा स्लो मोशन में सुनाई देगा ! ऐसा इसलिए होता है कि Running करने के बाद आपका ब्लड का फ्लो तेज हो जाता है जिसकी वजह से आपका दिमाग तेज काम करता है और आपको ये दुनिया थोड़ी स्लो मोशन में दिखाई देती है !
अगर आपने कभी किसी बड़ी मुशीबत का सामना किया हो तो उस समय आपके दिल कि धड़कन थोड़ी तेज होती है जिसकी वजह से आपके शरीर की मूवमेंट भी तेज हो जाती है ! उस समय आप दूसरों कि तुलना में इस दुनिया को स्लो मोशन में देखते हो !

What would happen if earth stoped spinning

checkout Tech & Myths youtube channel

Share with your friends
  • 2
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    2
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *