Venus Planet in Hindi

शुक्र ग्रह Venus Planet was once habitable

पृथ्वी हमारे सौरमंडल का एकलौता ऐसा ग्रह है जो अपने ऊपर जीवन को सजोये हुए हैं ! अगर हम समय में करोड़ों साल पीछे मुड़कर देंखे तो क्या पृथ्वी हमेशा से ही है Habitable Planet रहा है ? जी नहीं, पृथ्वी हमेशा से Habitable Zone में नहीं रहा ! हाल ही में नासा द्वारा किए गए एक अध्ययन के मुताबिक यह पता चला है कि Venus Planet अपने सौरमंडल का पहला Habitable Planet था !

अभी के समय में शुक्र ग्रह का हाल नर्क जैसा है क्योंकि अभी Venus Planet का Average Temperature 462 डिग्री सेल्सियस है ! इतना तापमान वीनस को अपने सौरमंडल के सबसे गर्म ग्रहों की लिस्ट में नंबर वन बनाता है ! वैसे Mercury सूर्य के सबसे नजदीक है लेकिन Venus सूर्य से दूसरा ग्रह होने के बावजूद भी पतले Atmosphere और ग्रीन हाउस Effects की वजह से सबसे गर्म ग्रह है ! वीनस के Atmosphere में कार्बन डाइऑक्साइड गैस की मात्रा ज्यादा है और इसकी ऊपर वाली लेयर सल्फ्यूरिक एसिड और सल्फर डाइऑक्साइड के बादलों से इस ग्रह को ढके हुए हैं जिसकी वजह से शुक्र ग्रह पर एसिड रेन हमेशा होती रहती है !

वीनस के वायुमंडल का दवाब पृथ्वी के मुकाबले 92 गुना ज्यादा है ! इसका इतना डरावना होने के वाबजूद भी इसे पृथ्वी की छोटी बहन माना जाता है क्योंकि इसका आकार लगभग पृथ्वी जितना ही है क्योंकि पृथ्वी का Diameter 12742 किलोमीटर है और Venus Planet का 12104 किलोमीटर है ! शुक्र ग्रह का द्रव्यमान पृथ्वी के द्रव्यमान का 81 परसेंट है और वीनस की Core भी पृथ्वी की तरह ही पिघली हुई है !

भले ही आज शुक्र ग्रह का हाल नर्क जैसा है लेकिन करोड़ों साल पहले Venus Planet का तापमान भी पृथ्वी की तरह था और उस पर भी पानी के समुद्र मौजूद थे !

हाल ही में नासा के वैज्ञानिकों ने भविष्य में पृथ्वी के क्लाइमेट में होने वाले बदलावों को जानने के लिए कंप्यूटर मॉडल सिस्टम का उपयोग किया ! जब उन्होंने सॉफ्टवेयर की मदद से पृथ्वी पर भविष्य में करोड़ों साल बाद क्लाइमेट में होने वाले बदलाव को देखा तो नतीजे चौंकाने वाले थे ! भविष्य में हमारी पृथ्वी का हाल भी ऐसा ही होने वाला है जो कि आज Venus का है और जब उन्होंने Venus के क्लाइमेट चेंज को Riverse में देखा तो पाया कि Venus ग्रीन हाउस इफेक्ट्स की वजह से गर्म होता चला गया !

NASA का मानना है कि 3 बिलियन साल पहले शुक्र ग्रह का तापमान पृथ्वी के जैसा ही था और उसकी सतह पर पानी के समुद्र मौजूद थे लेकिन समय के साथ Heat के बढ़ने से पानी भाप बनने लगा और हाइड्रोजन Space में जाकर खत्म हो गई ! कार्बन डाई ऑक्साइड की मात्रा बढ़ती गई ! जहरीला वातावरण बनता गया ! ज्वालामुखियों से निकलने वाले लावा ने खाली समुद्रों और खाइयों को भर दिया !

करोड़ों साल Venus Planet Habitable Zone में रहा था जिसकी वजह से हो सकता है कि इस पर Biological Organism का जन्म हो गया हो !

किसी भी ग्रह पर पानी का होना इस बात की पुष्टि नहीं करता कि उस ग्रह पर जीवन भी हो लेकिन किसी भी ग्रह पर तरल रूप में पानी का होना Complex Life के होने की संभावना को बड़ा देता है !

दोस्तों आपको क्या लगता है कि क्या शुक्र ग्रह Planet venus कभी habitable zone में रहा था ?

Earth lost oxygen for 1 Minute What would happen ?

Venus in Hindi

Share with your friends
  • 4
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
    4
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *